समय प्रबन्धन छात्र जीवन में आवश्यक : डॉ पूनम बत्रा

November 17, 2018 Shantanu Manohar No comments exist

 

 

 

 

 

 

अलीगढ़ १४ नवम्बर : उड़ान सोसाइटी द्वारा संचालित चाइल्ड लाइन के ‘चाइल्ड लाइन से दोस्ती सप्ताह’ के तीसरे दिन ब्रिलियंट पब्लिक स्कूल के नव निर्मित हाल में अलीगढ़ की जानी मानी परामर्शदाता डॉ पूनम बत्रा ने हाई स्कूल व् इंटरमीडिएट के बोर्ड परीक्षार्थियों को समय प्रबन्धन व् तनाव मुक्ति के गुण बताये | ‘चाइल्ड लाइन से दोस्ती सप्ताह’ के अंतर्गत आयोजित कार्यक्रमों की श्रंखला में ब्रिलियंट पब्लिक स्कूल के दो सौ छात्रों के मध्य कार्यक्रम का प्रारंभ माँ सरस्वती की प्रतिमा पर दीप प्रज्वलन एवं माल्यार्पण के साथ हुआ |  सर्वप्रथम स्कूल के वरिष्ठ अध्यापक चन्द्र शेखर शर्मा ने अतिथियों का परिचय एवं स्वागत किया | चाइल्ड लाइन के निदेशक ज्ञानेंद्र मिश्रा ने उड़ान सोसाइटी एवं चाइल्ड लाइन के कार्यों को विस्तृत रूप से छात्र छात्राओं के मध्य रखा | उन्होंने इस अवसर पर बोलते हुए सभी उपस्थितजनों को अपना स्वयंसेवक बताया व् किसी भी मुसीबत में फंसे बालक के हित में चाइल्ड लाइन का टोल फ्री नंबर 1098 सभी को दिया |

बाल दिवस के उपलक्ष्य में आयोजित कार्यक्रमों की श्रृंखला के अंतर्गत तीसरे दिन स्कूल में डॉ पूनम बत्रा ने बालक- बालिकाओं को समय प्रबंधन एवं परीक्षा के दौरान तनाव नियंत्रण के विषय में प्रस्तुतीकरण दिया | जिसके उपरांत बालक एवं बालिकाओं की व्यक्तिगत समस्याओं के लिए अलग से सत्र आयोजित किया गया | जहाँ डॉ पूनम बत्रा द्वारा उन्हें दैनिक जीवन में आने वाली समस्याओं पर परामर्श दिया गया | उचित समय प्रबन्धन के विषय में बोलते हुए उन्होंने छात्रों को सबसे पहले अपनी प्राथमिकता तय करने के लिए कहा | इसके उपरांत उन्होंने स्वयं पर विश्वास, उचित मार्गदर्शन, ध्यान एवं योग, अच्छी आदतों तथा नशे इत्यादि से दूर रहने पर भी जोर दिया |

साथ ही चाइल्ड लाइन की टीम द्वारा पूर्व माध्यमिक विद्यालय मडराक पर बालकों के साथ मडराक गाँव में रैली का आयोजन किया गया | जिसमें बालकों ने चाइल्ड लाइन से सम्बंधित गगनभेदी नारों से लोगों को चाइल्ड लाइन के विषय में जागरूक किया | इससे पूर्व बालकों को शिक्षा के महत्व के विषय में चाइल्ड लाइन की समन्यवयक नैंसी वर्गीस ने समझाया |

कार्यक्रम को सफल बनाने में चाइल्डलाइन की समन्यवयक नैंसी वर्गीस व् टीम सदस्य नीलम सैनी, नदीम अहमद, रेयान अहमद, निर्मल देवी, चन्द्र शेखर शर्मा, मालती गौतम, गरिमा, भूषण आदि का महत्वपूर्ण योगदान रहा |

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *