फेसबुक से मिला लापता बच्चे का पता |

February 6, 2019 UDAAN Society No comments exist

चाइल्ड लाइन की टीम करा रही थी इलाज़ |

अलीगढ़ ६ फ़रवरी: जिस अज्ञात बालक का पता खोजने में उड़ान सोसाइटी द्वारा संचालित चाइल्ड लाइन की टीम लगी हुई थी, उसका पता आखिरकार फेसबुक के माध्यम से मिल गया | प्राप्त जानकारी के अनुसार उड़ान सोसाइटी द्वारा संचालित चाइल्ड लाइन की टीम को दो फ़रवरी को बन्ना देवी थाने से  अज्ञात बालक मिला था |  चाइल्ड लाइन के निदेशक ज्ञानेंद्र मिश्रा के अनुसार दो फरवरी की सांयकाल बन्ना देवी थाने की पुलिस को नुमाइश ग्राउंड के समीप लगभग सोलह वर्षीय अज्ञात बालक घूमता हुआ मिला था | बालक को उसी दिन चाइल्ड लाइन की टीम के सुपुर्द कर दिया गया था | चाइल्ड लाइन की टीम के अथक प्रयास के उपरांत भी बालक अपने विषय में कुछ नहीं बता पाया | वह मानसिक रोगी प्रतीत हो रहा था | बालक की स्थिति को देखते हुए उसे मलखान सिंह अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहाँ से उसे एक दिन रखने के उपरांत मानसिक रोग चिकित्सक को रेफर कर दिया गया | चाइल्ड लाइन की टीम बालक का नियमित इलाज़ करा रही थी | पांच फरवरी को भी बालक को दींनदयाल अस्पताल में भर्ती करा रखा था |

इसी बीच उड़ान सोसाइटी में प्रशिक्षुता प्राप्त कर रहे नरसी मोंजी इंस्टिट्यूट मुंबई के छात्र हिमांशु शर्मा को फेसबुक पर एक पोस्ट प्राप्त हुई जिसमें गुडगाँव में कार्य करने वाली बालक की बड़ी बहन अमृता उपाध्याय ने अपनी भाई की खोज हेतु निवेदन किया हुआ था | हिमांशु ने तुरंत इसके विषय में संस्था अध्यक्ष ज्ञानेंद्र मिश्रा को सूचना दी | ज्ञानेंद्र मिश्रा ने फेसबुक पर दिए गए मोबाइल नंबर पर संपर्क कर अमृता को बालक का उपचार के दौरान का फोटो भेज पुष्टि की |  

बरेली के रहने वाले एवं वहीँ सरकारी अस्पताल में कार्यरत बालक के पिता कुलदीप शर्मा ने बताया कि बालक इशांक उपाध्याय एसआरएम यूनिवर्सिटी मोदीनगर में बीटेक का छात्र है | पढाई में नंबर कम आने के दबाव के कारण स्किजोफ्रीनिया नामक मानसिक बीमारी से पीड़ित हो गया | वह ३१ जनवरी को अपनी माँ बेबी शर्मा के साथ मोदीनगर गया था | माँ बेटा, रात को खाना खाने के बाद सो गए | प्रात: तीन बजे जब माँ की आँख खुली तो इशांक बिस्तर से गायब था | जिसकी गुमशुदगी थाना निवाड़ी जनपद गाजियाबाद में अगले दिन दर्ज करा दी थी | तभी से पूरा परिवार इशांक के लेकर परेशान था |

ज्ञानेंद्र मिश्रा के संपर्क करने के बाद आज बालक के माता-पिता, बहन अमृता, भाई अच्युत उपाध्याय व्  अन्य परिजनों के साथ बाल कल्याण समिति में बालक के संरक्षण हेतु उपस्थित हुए | जहाँ समिति के वरिष्ठ सदस्य मटरूमल, अजय सक्सेना, साधना गुप्ता, पदमा रानी एवं अध्यक्ष नीरा वार्ष्णेय ने इशांक को उचित इलाज के उपरान्त बाल कल्याण समिति, बरेली के समक्ष पेश करने का आदेश दिया |

समस्त परिवारीजनों ने इशांक के लिए किये गए प्रयासों के लिए उड़ान सोसाइटी के अध्यक्ष ज्ञानेंद्र मिश्रा सहित पूरी टीम की भूरि भूरि प्रशंसा की |

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *