चाइल्ड लाइन की मदद से पांच वर्ष बाद घर पहुंचा वली मोहम्मद

July 31, 2018 Shantanu Manohar No comments exist

दिनांक 26/7/2018 को बाल कल्याण समिति, अलीगढ़ के आदेशानुसार उड़ान सोसाइटी द्वारा  संचालित  चाइल्ड लाइन,अलीगढ़ को एक 13 वर्षीय  बालक प्राप्त हुआ | बालक अपना नाम  वली  मोहम्मद पुत्र स्वoकाले खान निवासी गाँव बादबाग्नी बता रहा था | बालक के अनुसार उसके पिता और माता दोनों का देहांत हो गया था और वह और उसका बड़ा भाई अली मोहम्मद अपने चाचा श्री मिट्ठन खान के परिवार के साथ रहते थे | करीब 5 वर्ष पूर्व वर्ष २०१३ में बालक का  सौतेला  भाई  अशदुल उसे बंगाल घूमाने के लिए ले गया परन्तु बालक मुर्शीदाबाद स्टेशन,बंगाल  पर  ही  अपने भाई से  बिछुड़ गया |बालक को लावारिस अवस्था में घूमता देख मुर्शीदाबाद  चाइल्ड लाइन ने बालक को बाल कल्याण समिति के आदेशानुसार काज़ी नजरुल इस्लाम  आश्रय गृह में रखवा दिया | बालक करीब 5 वर्ष उसी आश्रय गृह  में रहा | एक दिन बालक ने परामर्श के दौरान बताया की वह दिल्ली के पास रहता है, तो बाल कल्याण समिति  मुर्शीदाबाद ने बालक  को  दिल्ली बाल कल्याण समिति के समक्ष पेश करने के आदेश पारित कर दिए | करीब तीन महीने पहले बालक को पालिका धाम ,नई दिल्ली बाल कल्याण समिति  लाया गया तब से बालक वहाँ के बाल सहयोग आश्रय गृह में रह रहा था | बालक ने वहाँ अपने को अलीगढ़ का रहने वाला बताया तो उसे  दिनांक 26/7/18 को अलीगढ़ ,बाल कल्याण समिति के समक्ष प्रस्तुत किया गया |

चाइल्ड लाइन अलीगढ़ द्वारा जब खोज बीन कराई गई तो पता चला कि बालक द्वारा बताया गया गाँव बादबाग्नी न होकर बादवामनी है जो की लोधा ब्लाक में पड़ता है | वहाँ के प्रधान से संपर्क कर पता चला की बालक के चाचा श्री मिट्ठन खान अपने परिवार के साथ अलीगढ़ में गोंडा रोड ,नीवरी मोड़ , शाह जमाल में रहने लगे है | परिजनों  को जब सूचना दी गई तो उनकी ख़ुशी का ठिकाना नहीं था और वह  तुरंत चाइल्ड लाइन कार्यालय पहुँच गए |
चाइल्ड लाइन के निदेशक ज्ञानेंद्र मिश्रा ने बताया कि उक्त बालक की चाची सकूरन तथा भाई अली मोहम्मद  और  जफरुद्दीन को बाल कल्याण समिति के समक्ष प्रस्तुत किया गया |जहां जरूरी औेपचारिकता पूर्ण कर बालक  को उसके परिजनों के सुपुर्द कर दिया गया | बालक को उसके परिजनों तक पहुंचाने में चाइल्ड लाइन की समन्वयक नैंसी वर्गीस, नदीम अहमद, बॉबी, नीलम सैनी, भारत सिंह आदि का महत्वपूर्ण योगदान रहा। 
Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *